Monday, July 21, 2008

सत्ता सुख

करार पर रार का रिजल्ट सामने है। सत्ता सुख के लिए पराये अपने हो गये हैं। और अपने पराये। सभी देशहित में फैसले ले रहे हैं। लेकिन इस देशहित का क्या मतलब है, किसी को पता।

1 comment:

Udan Tashtari said...

सियासत का खेल है, इसमें देशहित और जनहित कैसा?