Thursday, April 4, 2013

विश यू वैरी-वैरी हैप्पी गर्मी

गर्मी का सीजन एक बार फिर मुबारक हो। हमें पता है कि गर्मी का नाम सुनते ही आपके नाक-मुंह सिकोड़कर एक्सरसाइज करना शुरू कर देते हैं पर अबकी गर्मी को एंजॉय करके देखिए, बहुत मजा आएगा। वैसे भी इस बार आपको गर्मी के फ्लैश बैक(बचपन के दिन) में ले जाने के लिए कई सेक्टर कमर चुके हैं....। अव्वल तो छोटे-छोटे बच्चे गर्मियों में ज्यादा टीवी न देखें, इसका इंतजाम कर दिया गया है। न होगा सेट टॉप बॉक्स....न चलेगा टीवी। जब टीवी नहीं होगा तो लोग मुहल्ले में चौपाल लगाएंगे, महिलाएं बालकनी में खड़ी होकर बतियाएंगी, बच्चे फिर से चोर-सिपाही, लंगड़े छज्जू खेलेंगे....यानि भाईचारे, बहनचारे और बच्चेचारे की भावना का एकदम सॉलिड इंतजाम। अगर फिर भी आप घर में घुसे रहने की फिलॉसफी को प्राथमिकता देने वाले हैं तो  टोरंट पावर है ना। आपके परफ्यूम और पाउडर से सुसज्जित शरीर पर पावरकट ऐसा पसीना बहाएगी कि आप चाहें या न चाहें घर से बाहर निकल ही आएंगे। रात में घर से न निकल पाना आपकी मजबूरी है लेकिन लंबा-चौड़ा एकदम खली के माफिक दिन काटने के लिए आपको मुहल्ले में तांक-झांक करनी पड़ेगी ही। इसलिए बी हैप्पी दिस समर।