Saturday, September 20, 2008

दिल्ली-६ इन आगरा ....पुरी ख़बर के लिए यहाँ क्लिक करें


ताज हैरान था, शायद उस पर भरी पड़ रहा था अभिषेक का जादू। ताज शांत था, शायद जल रहा था सोनम की सुन्दरता से। ताज उदास था, शायद सामना नहीं कर पा रहा था वहीदा की सादगी का। ताज नाराज था, शायद झेल नहीं पा रहा था ऋषि का अल्हड़पन।