Thursday, July 31, 2008

ताज में सतरंगी चादर

ये आस्था का सैलाब था या बेपनाह मोहब्बत को सलामी। जो शाहजंहा की शिद्दत में हजारों लोग सिर झुकाने पहुचे। मौका था बादशाह शाहजंहा के ३५३ उर्स का। इस दौरान ८०० फीट लम्बी चादर चढाई गई।